किडनी (गुर्दे) में इंफेक्शन होने पर दिखते हैं ये 10 संकेत, नजरअंदाज करने से खराब हो सकते हैं गुर्दे
October 11, 2019 • नीरजवार्ता

किडनी इंफेक्शन (Kidney Infection) का कारण बैक्टीरिया बनते हैं, जो पेशाब नली के रास्ते आपके ब्लैडर में पहुंचते हैं। हालांकि किडनी इंफेक्शन किसी को भी हो सकता है मगर इसका खतरा महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा होता है, क्योंकि उनका मूत्रमार्ग पुरुषों की अपेक्षा छोटा होता है। किडनी शरीर के महत्वपूर्ण अंग हैं, जो शरीर खून को छानकर शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को अलग करते हैं और उन्हें पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकालते हैं। इसके अलावा शरीर में मिनरल्स का संतुलन बनाए रखने की जिम्मेदारी भी किडनियां ही निभाती हैं। अगर किसी व्यक्ति की किडनी काम करना बंद कर दे, तो उस व्यक्ति का जीवित रहना मुश्किल है। किडनी इंफेक्शन होने पर शरीर कुछ बहुत सामान्य संकेत (Symptoms of Kidney Infection) देता है, जिन्हें लोग आसानी से नजरअंदाज कर देते हैं। किडनी इंफेक्शन का इलाज तुरंत न किया जाए, तो बैक्टीरिया शरीर के दूसरे अंगों तक पहुंचकर व्यक्ति की हालत गंभीर बना सकते हैं और कई बार किडनियों को डैमेज (Kidey Damage) कर सकते हैं। इसलिए जानें किडनी इंफेक्शन से पहले दिखने वाले 10 संकेत (Early Signs of Kidney Infection).

जल्दी-जल्दी पेशाब आना (Frequent Urination)

किडनी में इंफेक्शन होने का सबसे पहला संकेत यही होता है कि आपको जल्दी-जल्दी पेशाब लगती है। दरअसल बैक्टीरिया के कारण आपके ब्लैडर में खुजली होती है। इस खुजली को रोकने के लिए ब्लैडर सिकुड़ने लगता है, जिससे आपका ब्लैडर खाली होने के बावजूद पेशाब लगने जैसा अनुभव होता है।

पेशाब से बदबू आना (Foul smelling Urine)

मूत्रमार्ग में बैक्टीरिया एक बार पहुंच जाएं, तो ये वहीं पर फर्मेंटेशन की प्रक्रिया के द्वारा तेजी से अपनी संख्या बढ़ाने लगते हैं, जिसके कारण आपके पेशाब से अजीब सी तेज बदबू आती है। पेशाब की बदबू इस बात का भी संकेत हो सकती है कि आप कम पानी पीते हैं।

इसे भी पढ़ें:-

कमर में दर्द (Back Pain)

इंफेक्शन के कारण किडनी में सूजन आ जाती है, जिसके कारण कई बार दर्द होने लगता है। किडनी पेट से ज्यादा कमर के पास होती है, इसलिए आपको अपने पीठ में दर्द जैसा महसूस हो सकता है।

पेशाब करते समय दर्द या जलन (Pain while Urination)

किडनी इंफेक्शन एक तरह का यूटीआई (यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) है। इसलिए इस इंफेक्शन के होने पर भी पेशाब करते समय दर्द या जलन महसूस हो सकता है।

पेशाब करने के बाद भी संतुष्टि न मिलना

आमतौर पर पेशाब करने के बाद आपको सुकून मिलता है। मगर इंफेक्शन की स्थिति में पेशाब करने के बाद भी आपको संतुष्टि नहीं मिलती है। कई बार ऐसा लगता है कि अभी और पेशाब आएगी या कई बार पूरी तरह करने के बाद कुछ बूंदें पेशाब बाद में निकल जाती हैं। ये भी इस बात का संकेत है कि आपको किडनी इंफेक्शन हो सकता है।

अंडकोष (ग्रोइन) में दर्द

पुरुषों के अंडकोष में लगातार दर्द भी किडनी इंफेक्शन का संकेत हो सकता है दरअसल किडनी और अंडकोष के बीच एक ही नर्व्स जाती हैं। इसलिए कई बार किडनी में बैक्टीरिया का संक्रमण होने पर दर्द अंडकोष में महसूस होता है।

इसे भी पढ़ें:-

पेशाब के साथ खून निकलना (Blood in Urine)

आमतौर पर पेशाब का रंग सफेद, हल्का पीला या गाढ़ा पीला होता है। मगर यदि पेशाब के साथ आपको लाल रंग यानी खून दिखे, तो ये किडनी या मूत्रनली की किसी समस्या का संकेत है। आमतौर पर ऐसा किडनी इंफेक्शन, किडनी कैंसर जैसी समस्याओं में ही होता है।

पेशाब में सफेदी

अगर आपके के कुछ सफेद पदार्थ निकले या बहुत ज्यादा झाग निकले, तो ये इंफेक्शन का संकेत है। दरअसल इंफेक्शन को रोकने के लिए शरीर व्हाइट ब्लड सेल्स को भेजता है, जिसके कारण कई बार पेशाब के दौरान ये सेल्स भी बैक्टीरिया के साथ बाहर निकलने लगते हैं।

बुखार (Fever)

आमतौर पर बुखार तब तक नहीं आता है, जब तक इंफेक्शन ब्लैडर में होता है। जब बैक्टीरिया अपनी संख्या बढ़ाते हुए किडनी तक पहुंच जाते हैं, तो व्यक्ति का प्रतिरक्षा तंत्र उन्हें रोकने के लिए तापमान बढ़ा देता है। इसलिए बुखार भी किडनी इंफेक्शन का संकेत हो सकता है।

इसे भी पढ़ें:-

चक्कर आना

अगर शुरुआती लक्षणों के दिखने पर ही इलाज न किया जाए, तो किडनी के माध्यम से इंफेक्शन फैलाने वाले बैक्टीरिया खून तक पहुंच जाते हैं। ये स्थिति पूरे शरीर के लिए खतरनाक हो सकती है। इसके कारण आपका ब्लड प्रेशर घट सकता है, जिसके कारण आपको चक्कर आने और थकान के लक्षण महसूस हो सकते हैं।